15 August 2022 Speech in Hindi | 15 August 2022 Chief Guest | 15 August Wishes in Hindi

1

15 August 2022 (Happy Independance Day): आज क्यूँ देश भक्ति राष्ट्र के दो पर्वो में सिमट कर रही गयी हैं ? ऐसे तो कोई देश के लिए नही सोचता बस अगस्त और जनवरी में ही क्यूँ खून उबलता हैं. हम सभी को इस पर विचार करना चाहिए. आज स्वतंत्रता के लिए नहीं अपितु देश के भीतर आतंकवाद एवम भ्रष्ट्राचार के लिए लड़ना हैं और मुखोटा पहने अपनों के खिलाफ लड़ना हैं. यह लड़ाई और भी ज्यादा गंभीर हैं क्यूंकि इसमें कौन अपना हैं कौन पराया यह समझना मुश्किल हैं.आज की सदी में देश को देशभक्त की ज्यादा जरुरत हैं क्यूंकि आज दुश्मन अंग्रेज नहीं, नाही सीमा पर इतना खतरा हैं जितना भ्रष्ट्राचारियों से देश को हैं.आज सिपाही को नहीं आम नागरिक को देश की हिफाजत करनी हैं.


15 August 2022 ko kaun sa din hoga

15 August 2022 Ko Monday Hai

आजादी को कितने साल हो गए 2022 (Aajadi ko kitne saal ho gaye 2022)

इस साल हम अपना 76 वां आजादी दिवस मनाने जा रहे हैं और इस वर्ष यह दिन बुधवार के दिन आ रहा है. साथ में ही इस बारप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने भाषण के विषय को लेकर लोगों से सुझाव भी मांगे हैं और उन्होंने लोगों से कहा है कि वो उन्हें बताए कि वो इस दिन दिल्ली के लाल किलेसे किस विषय पर भाषण दें. पीएम मोदी ने ट्वीट के जरिए लोगों से उनके ये सुझाव मांगे हैं और लोगों द्वारा उन्हें कई विषयों के सुझाव भी दिए जा रहे हैं.

स्वतंत्रता दिवस 2022 पर मुख्य अतिथि  (15 August 2022 Chief Guest)

हर साल स्वतंत्रता दिवस के दिन हमारी सरकार द्वारा अन्य देश से किसी ना किसी व्यक्ति को बतौर मुख्य अतिथि के तौर पर निमंत्रण दिया जाता है. हालांकि इस साल इस दिवस पर सरकार द्वारा किसी भी व्यक्ति को मुख्य अतिथि के तौर पर नहीं बुलाया गया है.


भारतीय स्वतंत्रता दिवस का इतिहास (15 August 1947 Ka Itihas)

प्रारंभ में जब भारत बहुत ही पिछड़ा हुआ देश था तब 400 वर्ष पहले ईस्ट इंडिया कंपनी जो अंग्रेजों द्वारा बनाई गई थी, भारत में व्यापार करने के लिए आई। उन दिनों पाकिस्तान और बांग्लादेश भी भारत देश से अलग नहीं था। भारत देश पिछड़ा होने के साथ-साथ बहुत गरीब भी था जिसके चलते अंग्रेजों ने अपना व्यापार यहां पर शुरू किया और गरीबों को मजदूर बनाना शुरु कर दिया। गरीबों पर अत्याचार करना धीरे-धीरे उनकी आदत बन गई और उनका फायदा उठाकर उन्हें पैसा उधार देकर उन्हें कर्ज में दबा दिया करते थे। बेचारे गरीब लोग उनसे पैसा देने के बाद जब पैसा चुका नहीं पाते थे, तो अंग्रेजों के गुलाम बनते चले गए। देश में बहुत से राजा थे उस समय उनकी भी अंग्रेजों ने धन दौलत से मदद की और उनको अपने अधीन कर लिया कुछ राजा जिन्होंने अधीन होने से मना कर दिया उन पर आक्रमण करके उन राजाओं को अपने अधीन करते चले गए। कुछ समय के अंतराल में ही पूरे भारत पर अंग्रेजों ने अपना नियंत्रण जमा लिया।

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 15 August par nibandh

प्रस्तावना- सदियों की गुलामी के पश्चात 15 अगस्त सन् 1947 के दिन आजाद हुआ। पहले हम अंग्रेजों के गुलाम थे। उनके बढ़ते हुए अत्याचारों से सारे भारतवासी त्रस्त हो गए और तब विद्रोह की ज्वाला भड़की और देश के अनेक वीरों ने प्राणों की बाजी लगाई, गोलियां खाईं और अंतत: आजादी पाकर ही चैन लिया। इस दिन हमारा देश आजाद हुआ, इसलिए इसे स्वतंत्रता दिवस कहते हैं।

Swatantrata Diwas Par Nibandh 150 shabdo mein, Swatantrata Diwas par short nibandh, 




स्वतंत्रता की गाथा- अंग्रेजों के अत्याचारों और अमानवीय व्यवहारों से त्रस्त भारतीय जनता एकजुट हो इससे छुटकारा पाने हेतु कृतसंकल्प हो गई। सुभाषचंद्र बोस, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद ने क्रांति की आग फैलाई और अपने प्राणों की आहुति दी। तत्पश्चात सरदार वल्लभभाई पटेल, गांधीजी, नेहरूजी ने सत्य, अहिंसा और बिना हथियारों की लड़ाई लड़ी। सत्याग्रह आंदोलन किए, लाठियां खाईं, कई बार जेल गए और अंग्रेजों को हमारा देश छोड़कर जाने पर मजबूर कर दिया। इस तरह 15 अगस्त 1947 का दिन हमारे लिए ‘स्वर्णिम दिन’ बना। हम, हमारा देश स्वतंत्र हो गए।

Swatantrata Diwas par lekh hindi mein, Swatantrata Diwas par nibandh

यह दिन 1947 से आज तक हम बड़े उत्साह और प्रसन्नता के साथ मनाते चले आ रहे हैं। इस दिन सभी विद्यालयों, सरकारी कार्यालयों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है, राष्ट्रगीत गाया जाता है और इन सभी महापुरुषों, शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाती है जिन्होंने स्वतंत्रता हेतु प्रयत्न किए। मिठाइयां बांटी जाती हैं।
हमारी राजधानी दिल्ली में हमारे प्रधानमंत्री लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं। वहां यह त्योहार बड़ी धूमधाम और भव्यता के साथ मनाया जाता है। सभी शहीदों को श्रद्धां‍जलि दी जाती है। प्रधानमंत्री राष्ट्र के नाम संदेश देते हैं। अनेक सभाओं और कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।
महत्व- इस दिन का ऐतिहासिक महत्व है। इस दिन की याद आते ही उन शहीदों के प्रति श्रद्धा से मस्तक अपने आप ही झुक जाता है जिन्होंने स्वतंत्रता के यज्ञ में अपने प्राणों की आहु‍ति दी। इसलिए हमारा पुनीत कर्तव्य है कि हम हमारे स्वतंत्रता की रक्षा करें। देश का नाम विश्व में रोशन हो, ऐसा कार्य करें। देश की प्रगति के साधक बनें न‍ कि बाधक।
उपसंहार-
भारत के नागरिक होने के नाते स्वतंत्रता का न तो स्वयं दुरुपयोग करें और न दूसरों को करने दें। एकता की भावना से रहें और अलगाव, आंतरिक कलह से बचें। घूस, जमाखोरी, कालाबाजारी को देश से समाप्त करें। हमारे लिए स्वतंत्रता दिवस का बड़ा महत्व है। हमें अच्‍छे कार्य करना है और देश को आगे बढ़ाना है।


15 August Shayari in Hindi 15 August par shayari in hindi, 15 August par shayari photos, 15 August par shayari deshbhakti

मरने के बाद भी जिसके नाम मे जान हैं,
ऐसे जाबाज़ सैनिक हमारे भारत की शान है।

गंगा, यमुना, यहां नर्मदा
मंदिर, मस्जिद के संग गिरजा,
शांति प्रेम की देता शिक्षा,
मेरा भारत सदा सर्वदा।
सभी देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभ कामनाएं !

15 August wishes in hindi
15 August wishes in hindi

सलाम करे उनको जिनके हिस्से मे ये मुकाम आता है ,

खुशनशीब होता है वो खून जो देश के काम आता हैं .

15 August Wishes In Hindi 2022 | 15 August Quotes in Hindi 2022



 कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की मान का है,
हम लहराएंगे हर जगह इस तिरंगे को,
हम लहराएंगे हर जगह इस तिरंगे को,
ऐसा नशा ही कुछ हिंदुस्तान की शान का हैं।

दे सलामी इस तिरंगे को,
जिस से तेरी शान हैं,
सिर हमेशा ऊंचा रखना इसका
जब तक दिल में जान है…।।
जय हिंद

15 August Par Shayari 2022, 15 August Shayari In Hindi 2022

यह बात हवाओं को भी बताए रखना,
रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाजत हमने की,
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाए रखना.
स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

Swatantrata Diwas Par Bhashan | 15 August Par Speech in Hindi




1. आदरणीय मुख्य अतिथि महोदय, सम्माननीय शिक्षक, अभिभावक एवं साथियों। स्वतंत्रता दिवस के इस पावन अवसर पर अपने विचार व्यक्त करने का सुअवसर प्राप्त कर मुझे हर्ष की अनुभूति हो रही है। यह हमारा 73 वां स्वतंत्रता दिवस समारोह है। आज से ठीक 73 वर्ष पूर्व, हमे आजादी मिली थी। हमारे आजादी के संघर्ष की गाथा बहुत बड़ी है जिसका वर्णन एक दिन में नहीं हो सकता है। हर भारतीय के लिए स्वतंत्रता दिवस बहुत महत्व रखता है।

आज से 73 वर्ष पूर्व हम पर अंग्रेजों का शासन था, वे व्यापार के बहाने भारत आए और धीरे-धीरे सब कुछ अपने अधीन कर लिया और हमें अपना गुलाम बना लिया। फिर कई आंदोलन और लड़ाई लड़ने के बाद 15 अगस्त 1947 को भारत स्वतंत्र हुआ। हमारे देश के वीर योद्धाओं की वजह से आज हम स्वतंत्र हुए हैं और उन लोगों को श्रद्धांजलि देते हुए इस दिन को मनाते हैं। स्वतंत्रता दिवस भारत के राष्ट्रीय पर्वों मे से एक है।

जय हिन्द।

15 August Par Bhashan in Hindi | 15 August Par Short Bhashan

2. यहां उपस्थित सभी दिग्गजों को मेरा प्रणाम एवं भाईयों और बहनों को स्नेह भरा नमस्कार। स्वतंत्रता दिवस के इस शुभ अवसर पर मैं अपने विचारों को पंक्तिबद्ध तरीके से व्यक्त कर रही हूं, ताकि आप उस दौर के मार्मिकता को समझ पाएं, कि आखिर ऐसी क्या जरूरत आन पड़ी थी की जान बाजी लगानी पड़ी, ऐसी कौन सी विपदा आन पड़ी कि देनी पड़ी कुर्बानी थी, और आशा करती हूं कि ये आप सबको जरूर पसंद आएगा।

क्या समझोगे तुम इस युग में कि प्राण गवाने का डर क्या था, क्या समझोगे तुम इस दौर में की अंग्रेजो के प्रतारण का स्तर क्या था। क्या देखा है रातों रात, पूरे गांव का जल जाना। क्या देखा है वो मंजर, बच्चों का भूख से मर जाना। कहने को धरती अपनी थी, पर भोजन का न एक निवाला था। धूप तो उगता था हर दिन, पर हर घर में अंधियारा था।

अरे बैसाखी का था पर्व मनाने घर-घर से दीपक निकले थे, लौट न पाए अपने घर को, खून की होली खेल जो बुझ गए थे। जलियावाला बाग हत्या कांड वो कहलाया, जिसमे बच्चे-बूढ़े सब मर गए थे। क्या कसूर था उन निर्दोशों का कि देनी पड़ी कुर्बानी थी, क्या कसूर था उस बेबस मां  का जिससे रूठी उसकी किलकारी थी। धीरे-धीरे आक्रोश बढ़ा, सब के सर पर क्रोध चढ़ा। गांधी जी ने असहयोग आंदोलन चलवाया, तो हमने भी चौरा-चौरी कांड किया।


हमे बेबस समझते थे, इस लिये हमपर हुकूमत करते थे। पर देश पर जान कूर्बान करने से, न हम भारत वासी डरते थे। बहुत हुआ था तानाशाही, अब तो देश को वापस पाना था। साम, दाम, दंड, भेद चाहे जो हथियार अपनाना था। गांधी जी ने धीरज धरा और कहा अहिंसा को ही अपनाना है। इंट का जवाब पत्थर नहीं होता, यह सबक अंग्रेजों को सिखाना है।

अहिंसा को हथियार बनाया, न कोई गोली-बंदूक चलाया। फिर भी अंग्रेजों को हमने, अपने देश से खदेड़ भगाया और उस तारीख को हमने, सुनहरे अक्षरों से गढ़वाया और यही हमारा स्वतंत्रता दिवस है भाइयों, जो शान से 15 अगस्त कहलाया।

जय हिन्द, जय भारत।

15 august status hindi, 15 august status download

15 August Speech In Hindi 2021
15 August Speech In Hindi 2022

15 August 2022 Quotes In Hindi

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की मान का है,
हम लहराएंगे हर जगह इस तिरंगे को,
हम लहराएंगे हर जगह इस तिरंगे को,
ऐसा नशा ही कुछ हिंदुस्तान की शान का हैं।

 

दे सलामी इस तिरंगे को,
जिस से तेरी शान हैं,
सिर हमेशा ऊंचा रखना इसका
जब तक दिल में जान है…।।
जय हिंद

15 August Quotes In Hindi

यह बात हवाओं को भी बताए रखना,
रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाजत हमने की,
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाए रखना.
स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

 

फांसी चढ़ गए और सीने और गोली खाई,
हम उन शहीदों को प्रणाम करते है ,
जो मिट गए देश पर,
हम शहीदों को प्रणाम करते है।

15 August Quotes in Hindi 2022

फांसी चढ़ गए और सीने और गोली खाई,
हम उन शहीदों को प्रणाम करते है ,
जो मिट गए देश पर,
हम शहीदों को प्रणाम करते है।

 

जो भरा नहीं है भावों से ,बहती जिसमें रसधार नहीं,
वह हृदय नहीं वो पत्थर है ,जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं |

 || “जय हिंद, जय भारत” ||

15 August Wishes in Hindi

भूल न जाना भारत माँ के सपूतों का बलिदान,
इस दिन ले लिए जो हुए थे हँसकर कुर्बान,
आजादी की खुशियाँ मनाकर लो शपथ ये कि,
बनाएंगे देश भारत को और भी महान।

जय हिन्द !………. जय भारत !……..

15 August Status Hindi 2022

15 August Deshbhakti Quotes In Hindi

जिसे सींचा लहू से है वो यूँ खो नहीं सकती,
सियासत चाह कर विष बीज हरगिज बो नहीं सकती,
वतन के नाम पर जीना वतन के नाम मर जाना,
शहादत से बड़ी कोई इबादत हो नहीं सकती.

 

शम्मा-ए-वतन की लौ पर जब कुर्बान पतंगा हो,
होठों पर गंगा हो और हाथों में तिरंगा हो.

Happy Independance Day Wishes In Hindi

लिख रहा हूँ मैं अंजाम, जिसका कल आगाज आएगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा

 

जिसे सींचा लहू से है वो यूँ खो नहीं सकती,
सियासत चाह कर विष बीज हरगिज बो नहीं सकती,
वतन के नाम पर जीना वतन के नाम मर जाना,
शहादत से बड़ी कोई इबादत हो नहीं सकती.

Independence Day HD Images 2022

independance day quotes in hindi
independance day quotes in hindi

Happy Independance Day Wishes In Hindi

जो अब तक ना खौला वो खून नही पानी हैं,
जो देश के काम ना आये वो बेकार जवानी हैं.

 

किसी को लगता हैं हिन्दू ख़तरे में हैं,
किसी को लगता मुसलमान ख़तरे में हैं,
धर्म का चश्मा उतार कर देखो यारों,
पता चलेगा हमारा हिंदुस्तान ख़तरे में हैं.

 

है नमन उनको कि जो यशकाय को अमरत्व देकर,
इस जगत में शौर्य की जीवित कहानी हो गये हैं,
है नमन उनको जिनके सामने बौना हिमालय,
जो धरा पर गिर पड़े पर आसमानी हो गये हैं.

FAQs

Q : 2022 में स्वतंत्रता दिवस की वर्षगाँठ कौन सी है ?

Ans : 75 वीं

Q : स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाते है ?

Ans : भारत को 15 अगस्त 1947 के दिन अपनी नीतियों पर पूरी तरह स्वतंत्रत देश का दर्जा कई वर्षो के बाद प्राप्त हुआ था इसलिए इस दिन को आजादी के दिवस के रूप में मनाया जाता हैं.

Q : पहला स्वतंत्रता दिवस कब मनाया गया?

Ans : 26 जनवरी 1930 को पूर्ण स्वराज की घोषणा करते हुए पहली बार स्वतंत्रता दिवस मनाया गया.

Q : कौन से क्षेत्र 15 अगस्त 1947 को आजाद नहीं हुए थे ?

Ans : जम्मू – कश्मीर

Q : कौन सा देश सन 2011 में आजाद हुआ था ?

Ans : सूडान 9 जुलाई 2011 को आजाद हुआ था.

Q : 15 अगस्त को क्या हुआ था भारत में?

15 अगस्त 1947 को जब भारत को आजादी मिली थी तब राष्ट्रपिता महात्मा गांधी इस जश्न में शामिल नहीं हो सके थे, क्योंकि तब वे दिल्ली से हजारों किलोमीटर दूर बंगाल के नोआखली में थे, जहां वे हिंदुओं और मुस्लिमों के बीच हो रही सांप्रदायिक हिंसा को रोकने के लिए अनशन कर रहे थे।

Q : 15 अगस्त को लाल किले पर झंडा कौन फहराता है?
15 अगस्त को ध्वजारोहण प्रधानमंत्री (Prime Minister) द्वारा किया जाता है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here