KM Asif Biography in Hindi | केएम आसिफ का जीवन परिचय

0
KM Asif Biography in Hindi | केएम आसिफ का जीवन परिचय

KM Asif Biography In Hindi, Wiki, Age, IPL Team, Education, Career, Wife, Family, Net Worth, Father and Mother


केएम आसिफ एक भारतीय क्रिकेटर हैं उनका जन्म 24 जुलाई, 1999 को केरेला, भारत में हुआ था। केएम आसिफ 2021 से ही चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा है । हर बार कि तरह इस सीजन में भी कई ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने बड़ी मेहनत और संघर्ष के बाद यह मुकाम हासिल किया है. उनके संघर्ष की कहानी दूसरों के लिए प्रेरणादायक है. उनमें से एक नाम चेन्नई सुपर किंग्स में शामिल युवा तेज गेंदबाज KM आसिफ का है, जिनके संघर्ष और जुनून की दास्तां दिल छू लेनी वाली है. इस बार भी आईपीएल 2022 मे केएम आसिफ को चेन्नई सुपर किंग्स ने 20 लाख मे खरीद अपने टीम मे शामिल किया है । इस बार भी ये खिलाड़ी चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते हुए नजर आएंगे । आज के इस आर्टिकल मे हम आपको केएम आसिफ का जीवन परिचय के बारे मे बताने वाले है ।


KM Asif Biography in Hindi | केएम आसिफ का जीवन परिचय

पूरा नाम  केएम आसिफ
जन्म तिथि  24 जुलाई, 1993
जन्म स्थान  इडावन्ना, मलप्पुरम (केरल)
उम्र  29 वर्ष
पेशा  क्रिकेटर
राष्ट्रीयता  भारतीय
धर्म  इस्लाम धर्म
स्कूल  जीवी राजा स्पोर्ट्स स्कूल, तिरुवनंतपुरम
ऊंचाई सेंटीमीटर में- 172 सेमी
मीटर में- 1.7 मी
आईपीएल टीम 2022  चेन्नई सुपर किंग्स 

केएम आसिफ का जन्म व प्रारम्भिक जीवन (KM Asif Birth and Early Life)

केएम आसिफ का जन्म 24 जुलाई 1993 को केरल में हुआ था । तेज गेंदबाज केएम आसिफ का सफ़र संघर्ष भरा रहा. उनके पिता दैनिक मजदूरी करते थे, जबकि मां होममेकर थीं. परिवार की आर्थिक स्थिति कैसी थी, इसको इसी से समझा जा सकता है कि बारिश के दिनों में उनके घर की छत से पानी टपकता था. ऊपर से छोटी बहन ब्रेन इंजरी जैसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं. आसिफ का भाई भी मानसिक रूप से कमज़ोर है. ऐसे में उनके पिता के लिए घर चलाना आसान नहीं था.


मगर, कहते है जहां चाह होती है, वहां राह मिल ही जाती है. आसिफ के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ. उन्हें छोटी उम्र से क्रिकेट खेलने का शौक था, जिसे आगे उन्होंने अपना करियर बनाने का निश्चय कर लिया. एक बार खुद को तैयार करने के बाद उन्होंने कई ट्रायल दिए, मगर उन्हें सफलता नहीं मिली. कोच बीजू बताते हैं कि चयन न होने पर आसिफ बहुत निराश थे. एक तरफ उनका क्रिकेटर बनने का सपना तो दूसरी तरफ उनके परिवार की ख़राब हालत उनको दुःख दे रही थी.

केएम आसिफ का संघर्ष पूर्ण जीवन 

एक वक्त ऐसा भी आया, जब आसिफ को परिवार की परेशानियों के आगे अपने सपने को छोड़ना पड़ा. वो साल 2016 था, जब मार्च के महीने में वो कमाने के लिए दुबई चले गए. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आसिफ के कोच ने ही अपने दोस्तों की मदद से आसिफ की जॉब दुबई में लगवाई थी. दुबई में आसिफ ने स्टोर कीपर का काम किया करते थे. वे दुबई में एक छोटे से कमरे में सात लोगों के साथ रह रहे थे. जैसे-तैसे उन्होंने अपना एक महीना दुबई में गुजारा और भारत लौट आए


दरअसल, आसिफ अपने क्रिकेट के सपने को छोड़ नहीं पा रहे थे. यही कारण रहा कि जैसे ही उन्हें पता चला कि भारतीय बैंक आईडीबीआई ने ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज जैफ थॉमसन के साथ मिलकर देश में तेज गेंदबाजी का ट्रायल करा रही है. वो इसमें भाग लेने के लिए तैयार हो गए. यह उनके लिए एक बड़ा मौका था. जो भी गेंदबाज इस ट्रायल में सिलेक्ट होता है. उसे चेन्नई के MRF पेस फाउंडेशन के तहत स्कालरशिप मिलनी थी. साथ में ग्लेन मैग्रा के नेतृत्व में उस तेज गेंदबाज का प्रशिक्षण कराने का इंतजाम था.

आसिफ ट्रायल शुरू होने के दो दिन पूर्व ही भारत पहुंचे और प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए तिरुवनंतपुरम से वायनाड के लिए निकल पड़े. खास बात यह कि इस बारे में आसिफ ने अपने कोच बीजू जार्ज को भी नहीं बताया था. दरअसल, वो सिलेक्शन होने के बाद उन्हें सरप्राइज देना चाहते थे. इस बार भी आसिफ के हाथ सफलता हाथ नहीं लगी थी, मगर वो थॉमसन प्रभावित करने में सफल रहे थे.

थॉमसन ने ही उन्होंने आसिफ को अपनी गति से समझौता न करने की सलाह दी थी और कहा था कि तुम बहुत आगे जाओगे. थॉमसन की प्रशंसा ने उनके उत्साह को बढ़ा दिया था. उन्हें आगामी घरेलू सीरिज को लेकर उम्मीद थी कि इस बार उनका सिलेक्शन तय है, लेकिन किस्मत ने इस बार भी उनका साथ नहीं दिया. सिलेक्टरों ने उन्हें नज़रंदाज कर दिया.


केएम आसिफ का क्रिकेट करियर 

आसिफ क्रिकेट से जितना दूर जाते किस्मत उन्हें उसके पास ले आती. दुबई में उन्होंने आईसीसी एकेडमी में UAE की नेशनल टीम के ट्रायल के बारे में सुना को वो वहां पहुंच गए.

आसिफ ने ट्रायल में तीन घंटे तक जमकर गेंदबाजी की. पसीना बहाया और अपना कांटेक्ट नंबर देकर उम्मीद लिए वापस आ गए थे. अगले दिन उन्हें कॉल आया कि UAE टीम के कोच आकिब जावेद आपसे मिलना चाहते हैं. आकिब भी थामसन की तरह उनकी गति से बहुत प्रभावित हुए थे. कोच आकिब जावेद से मिलने के बाद आसिफ ने अपने हालात और सपने के बारे में बताया. इसके बाद कोच आकिब ने उन्हें एक प्राइवेट नौकरी दिलाई.

हालांकि, कुछ वक्त बाद वीजा एक्सपायर होने के कारण उन्हें भारत लौटना पडा. इस बार भारत आने के बाद मेहनत और लगन के  साथ उनकी किस्मत ने भी उनका साथ दिया. आसिफ का सिलेक्शन केरल की 2017-18 की सैयद मुश्ताक अली ट्राफी के लिए हो गया. आसिफ ने गोवा के खिलाफ अपना डेब्यू मैच खेला.


इस मैच में लक्ष्मण सिवारामाकृष्णन कमेंट्री कर रहे थे. वो आसिफ की गेंदबाजी से इतना प्रभावित हुए कि उन्होंने आसिफ को चेन्नई सुपर किंग्स के गेंदबाजी ट्रायल के लिए भेज दिया. इस तरह अंतत: आसिफ नेट गेंदबाज के लिए चुन लिए गए. घरेलू मैचों के दौरान संजू सैमसन से उनकी अच्छी दोस्ती हो गई. साल 2017 में संजू सैमसन की सिफारिश पर उन्हें दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम में बतौर नेट तेज गेंदबाज शामिल कर लिया गया. इसके बाद उन्होंने कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए भी नेट प्रैक्टिस पर गेंदबाजी करने का मौका मिला.

केएम आसिफ का आईपीएल करियर 

2018 में आईपीएल नीलामी के दौरान चेन्नई सुपरकिंग्स ने उन्हें 40 लाख रुपये में खरीद लिया और जब आईपीएल 2018 में दीपक चाहर को चोट लगी तो उन्हें उनकी जगह खेलने का मौका मिला. आईपीएल में उन्होंने अपना पहला मुकाबला दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ खेला. उस सीजन आसिफ को आईपीएल में दो मैच खेलने का मौका मिला था. उन्होंने उस दौरान तीन विकेट चटकाए थे. इसके बाद उन्हें अब तक खेलने का मौका नहीं मिला है. इस बार आईपीएल 2022 मे केएम आसिफ को चेन्नई सुपर किंग्स ने 20 लाख मे खरीद अपने टीम मे शामिल किया है । इस बार भी ये खिलाड़ी चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते हुए नजर आएंगे ।


यह भी पढे : प्रियम गर्ग का जीवन परिचय

आवेश खान का जीवन परिचय

अभिषेक शर्मा का जीवन परिचय

अभिनव सदरंगानी का जीवन परिचय

आकाश दीप का जीवन परिचय 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here