WWW क्या है? – World Wide Web का इतिहास, कार्य और विशेषताएं

0
WWW Kya Hai In Hindi

नमस्कार दोस्तों आज के इस आर्टिकल मे हम आपको बताने वाले है WWW क्या है? – World Wide Web का इतिहास, कार्य और विशेषताएं के बारे मे  यदि आप (World Wide Web) के बारे मे पूरी जानकारी जानना चाहते है तो इस लेख को विस्तार से लास्ट तक जरूर पढे ।


WWW (World Wide Web) यह HTML, HTTP, वेब सर्वर और वेब ब्राउज़र इत्यादि पर काम करता है। यह एक सूचना प्रणाली है जो इंटरनेट पर उपलब्ध डॉक्यूमेंट का समूह है यह आपस में एक दूसरे के साथ Hypertext (टेक्स्ट, इमेज, ध्वनि) से जुड़े हुए होते है। WWW को वेब के नाम से इसलिए जानते है क्योंकि यह वेबसाइट्स का एक संग्रह है। जहाँ दुनिया भर की सभी जानकारियों को वेबसाइट में संग्रहित किया जाता है।

WWW (World Wide Web) Kya Hai?

WWW का फुल फॉर्म वर्ल्ड वाइड वेब (World Wide Web) होता है जिसका उपयोग जानकारी को संगृहीत करने के लिए किया जाता है। इसके द्वारा ही सभी वेबसाइट्स को अपना एक विशेष नाम दिया जाता है, जो उनके पहचान के तौर पर काम करता है और जिसे हम URL के नाम से जानते है। जानकारी प्राप्त करने का यह एक ऐसा माध्यम है जो Links के रूप में होता है। WWW तकनीक के द्वारा दुनियाभर के सभी कंप्यूटर आपस में जुड़े होते हैं।


हम इन वेबसाइट्स को और इनमें मौजूद इनफार्मेशन, जो कि चित्र, टेक्स्ट, ऑडियो या वीडियो के रूप में होते है, दुनिया के किसी भी कोने से Access कर सकते है। Laptop हो, Mobile हो, या Computer हो, ये सब पर आसानी से उपलब्ध हो सकते है। WWW है, तभी हम इंटरनेट को एक्सेस कर सकते है ।

WWW (World Wide Web) का इतिहास 

वर्ल्ड वाइड वेब का आविष्कार ब्रिटिश वैज्ञानिक टिम बर्नर्स ली (Tim Berners-Lee) ने, 1989 में किया था। वर्ल्ड वाइड वेब का इतिहास कुछ इस तरह है- की Tim Berners-Lee, CERN में काम करते थे। उनकी 1700 से अधिक वैज्ञानिकों की टीम थी, जो लगभग 100 देशों में थे। इन सभी वैज्ञानिकों को अपनी जानकारियाँ एक दूसरे तक पहुंचाने का एक ऐसा माध्यम चाहिए था, जो विश्वसनीय हो। इसी बात को ध्यान में रखते हुए कंप्यूटर प्रौद्योगिकियों, डेटा नेटवर्क और हाइपरटेक्स्ट को एक प्रभावी और यूज़र फ्रेंडली वैश्विक सूचना प्रणाली में संयोजित करने के मकसद से, वर्ल्ड वाइड वेब का आविष्कार किया गया था ।


WWW (World Wide Web) की विशेषताएँ

  • वर्ल्ड वाइड वेब की वजह से ही हम इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते है। WWW नहीं, तो इंटरनेट का इस्तेमाल हम सब नहीं कर सकते।
  • WWW को हम दुनिया के किसी भी कोने से बैठकर इस्तेमाल कर सकते है।
  • दुनिया के एक कोने में बैठकर, हम दूसरे कोने में किसी से भी जुड़ सकते है व संपर्क कर सकते है। ये WWW का ही तो कमाल है।
  • हम दुनिया भर की जानकारी मिनटों में पा सकते है सिर्फ वर्ल्ड वाइड वेब यानि WWW की वजह से।
  • ऑनलाइन पढ़ाई, Online Shopping, ऑनलाइन काम, ऑनलाइन पेमेंट, और भी कितने ही ऑनलाइन काम, सब कुछ WWW की वजह से ही मुमकिन हो पाया है।



WWW (World Wide Web) कैसे काम करता है?

  • यदि URL में एक डोमेन नाम है, तो ब्राउज़र (जहां पर हम जानकारी खोजते है) पहले एक डोमेन नेम सर्वर से जुड़ता है और वेब सर्वर के लिए संबंधित IP Address प्राप्त करता है।
  • वेब ब्राउज़र वेब सर्वर से जुड़ता है और वांछित वेब पेज के लिए एक HTTP अनुरोध (प्रोटोकॉल स्टैक के माध्यम से) भेजता है।
  • वेब सर्वर वांछित पेज के लिए अनुरोध और जांच प्राप्त करता है। यदि सर्च किया गया पेज मौजूद होता है, तो वेब सर्वर इसे भेजता है। और यदि सर्वर अनुरोधित पेज नहीं ढूंढ पाता है, तो यह एक HTTP 404 त्रुटि संदेश भेजेगा।
  • पेज मैच होने के बाद आप इसे अपने वेब ब्राउज़र पर देख सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here